लोकप्रिय लेखक सुनील पंवार के प्रथम उपन्यास ‘तपस्वी’ का लोकार्पण

राजस्थान के लोकप्रिय लेखक सुनील पंवार के प्रथम उपन्यास ‘तपस्वी’ का लोकार्पण प्रगति मैदान नई दिल्ली में आयोजित विश्व पुस्तक मेला 2024 में लेखक से मिलिए कार्यक्रम के दौरान हुआ, जिसमें दिल्ली विश्वविद्यालय के विभिन्न महाविद्यालयों के प्रोफ़ेसर भी शामिल हुए।
सुनील पंवार पेशे से शिक्षक हैं। यह उपन्यास प्रकाशन से पूर्व ही काफ़ी सुर्खियां बटोर चुका है व सोशल मीडिया पर काफ़ी विवादित भी रहा है। यहाँ तक कि फेसबुक ने पुस्तक से संबन्धित सभी पोस्टों को हटा दिया व लिंक तक को स्वीकृत नहीं किया। इस प्रकार फ़ेसबुक पर बैन होने वाली संभवतः यह प्रथम पुस्तक रही। इस उपन्यास के संवादों की लोकप्रियता देखते ही बनती है। यही कारण है कि यह उपन्यास पाठकों के बीच अपनी ख़ास जगह बना चुका है। देवसाक्षी पब्लिकेशन राजस्थान ने इसे प्रकाशित किया है। विश्व पुस्तक मेले में लेखक की हस्ताक्षरित प्रति पाठकों को प्राप्त हुई तथा लेखक से पाठकों को रू-ब-रू होने का अवसर भी प्राप्त हुआ।


उपन्यास के परिचर्चा कार्यक्रम में कुसुम सबलानिया ने उपन्यास से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न भी लेखक से किए। इस उपन्यास की बिक्री भी खूब हुई। ‘तपस्वी’ मेले में आकर्षण का केंद्र रहा। यह उपन्यास सफ़लता एवं लोकप्रियता की ओर अग्रसर है।
इस अवसर पर दिल्ली विश्वविद्यालय की प्रोफ़ेसर डॉ.राजकुमारी ‘राजसी’, डॉ.ऋचा गुप्ता, डॉ. रक्षा गीता, डॉ.केशव, सरिता संधु, कुसुम सबलानिया, समीक्षक नृपेंद्र अभिषेक ‘नृप’, राहुल स्नेहिल, शालिनी गुप्ता, रामनारायण चौहान, संजय ढिंका, माही मुन्तज़िर, पूनम बागड़िया, नरेन्द्र वाल्मीकि, रमन टाकिया, तथा राजसूर्या प्रकाशन के संपादक श्री वास्तव, राहुल, अभिषेक आदि शामिल हुए।